फर्जी मतदान को लेकर आसपुर देवसरा में जमकर बवाल, पथराव तोड़फोड़ फायरिंग

 

विकासखंड आसपुर देवसरा में क्षेत्र पंचायत सदस्यों द्वारा फर्जी मतदान का आरोप लगाते हुए सपा समर्थकों ने जमकर बवाल काटा। पुलिस पर पथराव तोड़फोड़ की गई बवालियों की संख्या अधिक होने के कारण पुलिस मोर्चा छोड़ कर भागने को मजबूर हुई। बवाली आसपुर देवसरा ब्लाक गेट तक चले आए बैरियर तोड़ डाला। मौके पर खड़ी पुलिस की गाड़ियां सीओ के वाहन भी तोड़ डाले गए। लगभग आधे घंटे जमकर बवाल होता रहा बवाल को कंट्रोल करने के लिए भारी पुलिस बल मौके पर बुलाया गया और रबर बुलेट फायरिंग के जरिए बवाल को रोकने में प्रशासन कामयाब हो सका। आसपुर देवसरा के थाना अध्यक्ष नरेंद्र सिंह मौके से भाग खड़े हुए। उनकी लचर व्यवस्था के चलते इतना लंबा बवाल हो गया। बवाल की सूचना पर प्रभारी एसपी एलआर कुमार जिलाधिकारी डॉ नितिन बंसल समेत पट्टी कोहंडौर और रानीगंज कैथौला की पुलिस के साथ पुलिस लाइन से भारी फोर्स लेकर उच्चाधिकारी ब्लॉक पर पहुंचे। लेकिन तब तक जमकर बारिश होने के कारण बवाली भी हट गए। जिला अधिकारी प्रतापगढ़ डॉ नितिन बंसल ने कहा कि क्षेत्र पंचायत चुनाव में उपद्रव करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कड़ी दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष मतगणना संपन्न कराकर भाजपा उम्मीदवार को विजेता घोषित किया गया। भाजपा उम्मीदवार कमलाकांत यादव को 52 मत प्राप्त हुए थे जबकि सपा उम्मीदवार सुषमा यादव को 17 मत मिल सके तथा तीन मत अवैध पाया गया।