पेड़ जीवन का मुख्य आधार है- अजय क्रांतिकारी

 

तरुण चेतना ने आयोजित की पर्यावरण जागरूकता समारोह

 

पट्टी।ड़ जीवन का मुख्य आधार है जिससे हमें सांस पानी व भोजन तीनों मुफ्त में मिलता है उक्त विचार रामराज इंटर कॉलेज पट्टी के प्रांगण में तरुण चेतना द्वारा आयोजित पर्यावरण जागरूकता समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पर्यावरण सेना के अध्यक्ष अजय क्रांतिकारी ने व्यक्त किया श्री क्रांतिकारी ने कहा कि पेड़ के लगाने से हमारा जलवायु भी ठीक रहेगा बरसात भी समय से होगी और खेतों से भोजन भी पर्याप्त मिलेगा उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि हमें पेड़ लगाने के साथ साथ पेड़ बचाने का रिकॉर्ड बनाना चाहिए उन्होंने कहा कि हमारे गलत व्यवहार ने पर्यावरण को नष्ट कर दिया है। और धरती का तापमान बढ़ गया है। जो मानव जीवन के लिए खतरा है हमें पेड़ लगाकर प्लास्टिक के अंधाधुन योग को भी रोकना चाहिए कार्यक्रम में क्षेत्राधिकारी सुरेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि आगामी 1 से 8 जुलाई तक प्रदेश सरकार द्वारा वृक्षारोपण महोत्सव मनाया जा रहा है जिसमें प्रत्येक ग्राम सभा को 1819 पौधे मुफ्त में दिए जाएंगे उन्होंने इस वृक्षारोपण महाकुंभ में ज्यादा से ज्यादा भाग लेने की अपील की इस अवसर पर कृषि विभाग के पीपीएस नीरज मिश्रा ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि शिक्षा जागरूकता की सीढ़ी है हमें उम्मीद है कि आज की जागरूकता से क्षेत्र में वृक्षारोपण का एक महा अभियान शुरू होगा उन्होंने कहा कि पेड़ों से सिर्फ पर्यावरण ही नहीं तुम्हारे उपजाऊ मिट्टी की भी रक्षा होती है जिससे हमें भोजन फल व ईंधन मिलता है कार्यक्रम के शुरुआत में आयोजक संस्था तरुण चेतना के निदेशक नसीम अंसारी ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला श्री अंसारी ने कहा कि पेड़ों को काटना नहीं बल्कि लगाना वह बचाना चाहिए जिससे जल जमीन जंगल तीनों की रक्षा होगी। तभी जीवन जीवन संभव है।

समारोह के अंत में सभी को एक-एक हरित उपहार बौद्ध देकर पर्यावरण संरक्षण की शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता सावित्री पटेल और संचालन हकीम अंसारी ने किया।

कार्यक्रम में आरक्षी श्याम विजय यादव नवनिर्वाचित प्रधान बलिकरन सरोज, पर्यावरण सैनिक रवि प्रकाश मिश्र, सहित नीरज गुप्ता मालती देवी अमरावती शकुंतला देवी मुजम्मिल हुसैन राकेश गिरी बृजलाल मेहताब खान आजाद आलम राज ने अपने विचार व्यक्त किए।