देवरिया जिला पंचायत अध्यक्ष :नोकझोंक और झड़प के बीच भाजपा और सपा प्रत्याशी ने किया नामांकन

पी आई न्यूज अमित कुमार बरनवाल देवरिया

देवरिया।देवरिया में नोकझोंक और झड़प के बीच शनिवार को भाजपा और सपा के प्रत्याशी ने जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन किया। इस दौरान शहर के कचहरी चौराहे से लेकर कलेक्ट्रेट तक पुलिस छावनी बना रहा। एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र खुद मौके पर जमे रहे। नामांकन को देखते हुए सुबह 9 बजे से ही शहर के सुभाष चौक, कचहरी चौराहा, कलेक्ट्रेट व रुद्रपुर मोड़ पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। इस दौरान पुलिसकर्मी शक के आधार पर कुछ लोगों की तलाशी भी ले रहे थे। करीब 11 बजे नामांकन के लिए भाजपा और सपा कार्यकर्ताओं का कचहरी से लेकर कलेक्ट्रेट गेट तक जमावड़ा होने लगा। करीब साढ़े ग्यारह बजे भाजपा प्रत्याशी गिरीश तिवारी अपने समर्थकों के साथ नामांकन करने पहुंचे। उनके साथ कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, सदर विधायक डॉ. सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी व भाजपा जिलाध्यक्ष अंतर्यामी सिंह भी थे। उन्हें कलेक्ट्रेट गेट से अंदर भेज दिया गया। करीब पांच मिनट बाद ही सपा प्रत्याशी शैलजा यादव अपने पति अजय यादव, एमएलसी रामसुंदर दास, विधायक आशुतोष उपाध्याय व जिलाध्यक्ष डॉ. दिलीप यादव समेत अपने अन्य समर्थकों के साथ पहुंची।गेट पर मौजूद एसडीएम ने भाजपा प्रत्याशी के बाहर निकलने के बाद अंदर आने की बात कही। पुलिस कर्मियों ने सभी को गेट पर ही रोक दिया। यह देख सपा कार्यकर्ता नारेबाजी के साथ हंगामा शुरू कर दिए। ये लोग प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगा रहे थे। बवाल बढ़ता देख सपा प्रत्याशी व उनके प्रस्तावक को अंदर जाने दिया गया। इस पर सपाई भाजपा के अधिक लोगों को अंदर प्रवेश कराने का आरोप लगाने लगे। कुछ ही देर में एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र मौके पर पहुंच गए। उन्होंने हंगामा कर रहे सपा कार्यकर्ताओं को चेतावनी दी फिर भी वे शांत नहीं हुए इस पुलिस ने लाठी भांज कर उन्हें खदेड़ा। पुलिस ने एक सपा कार्यकर्ता को भी हिरासत में ले लिया। इस दौरान सपा विधायक आशुतोष उपाध्याय की एसपी से नोकझोंक भी हुई।